Menu

Endotracheal Intubation क्या है: Purpose, Procedure & Risks

Endotracheal Intubation क्या है: Purpose, Procedure & Risks

 

Endotracheal Intubation - medicaldudes

Endotracheal Intubation क्या है

Endotracheal Intubation एक आपातकालीन प्रक्रिया है, जो ऐसे व्यक्ति पर अपनायी जाती है जो बेहोश हो और खुद से सांस लेने में असमर्थ है। एंडोट्रेकियल इंट्यूबेशन (EI) बंद वायुमार्ग (Closed airway) को फिर से खोला जा सकता है जिससे व्यक्ति फिर सांस ले पाता है।  

Endotracheal Intubation क्यों किया जाता है: उद्देश्य  

  • किसी भी व्यक्ति को अचानक श्वास लेने में असमर्थता (acute respiratory failure) को दूर करने के लिए।
  • फेंफड़ो तक पर्याप्त ऑक्सीजन (adequate oxygen), दवाईयां (medicine) और निश्चेतक (anesthesia) को पहुंचाने के लिए। 
  • व्यक्ति जो सांस लेने में कठिनाई महसूस कर रहा है जिससे उसके शरीर में Pco2 की मात्रा बढ़ गयी है, को कम करने के लिए 
  • न्युमोनिआ जैसी बिमारियों में फेंफड़ो में तरल पदार्थ जमने से सांस लेने में कठिनाई को दूर करने के लिए। 
  

Endotracheal Intubation से होने वाले खतरे 

जब किसी व्यक्ति पर यह प्रक्रिया अपनायी जाती है तब वह निश्चेतक (anesthesia) के प्रभाव के कारण कुछ भी महसूस नहीं कर पाता है। सामान्यतः स्वस्थ व्यक्तियों में इस प्रक्रिया के दौरान होने वाले दुसरे खतरे बहुत ही कम होते है लेकिन कुछ व्यक्ति जिन्हे डायबिटीज, मोटापा, फेंफड़ो-किडनी-दिल की पुरानी समस्या हो साथ ही जो एल्कोहोलिक, उम्रदराज (aged) हो ऐसे व्यक्तियों में EI से कुछ खतरे हो सकते है। 

एंडोट्रेकियल इंट्यूबेशन से सम्बंधित खतरे निम्न है:
  • फेंफड़ो का संक्रमण (Pulmonary infection)
  • स्वरयंत्र / श्वासनली में चोट (Laryngeal/tracheal injury)
  • श्वासनली में रक्त आना (Endotracheal bleeding)
  • दांतो में चोट लगना (Dental injury)

Endotracheal Intubation के लिए आवश्यक उपकरण 

  • Sandbag/towel roll
  • Amubag
  • Laryngoscope with appropriate blade size
  • Endotracheal tube 
  • Stylet
  • Xylocaine gel: a local anesthetic agent
  • Oxygen source
  • Lubricant
  • Adhesive tap
  • Sterile gloves
  • Facemask
  • Handwash or sanitizer
EI articles


Endotracheal Intubation कैसे करे: प्रोसीजर 

1. सबसे पहले अपने हाथों को साबुन या हैंडवाश की मदद से अच्छी तरह से धोये।
कारण: प्रोसीजर से होने वाले किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचने के लिए। 

2. रोगी को पूरी प्रक्रिया विस्तार से समझाए।
कारण: रोगी का सहयोग (cooperation) प्राप्त करने के लिए। 

EI procedure
3. रोगी को सीधे पीठ के बल (supine position) अवस्था में लाये और सिर के नीचे सैंडबैग/ टॉवल रोल रखकर उसे उठाये रखे। 
कारण: श्वसन पथ को सीधा और खुला बनाये रखने के लिए। 
(to airway straight or open)


4. सुनिश्चित करे की मुँह में किसी भी प्रकार का कुछ पदार्थ या डेन्चर (Denture) न हो। 
कारण: प्रक्रिया के दौरान श्वसन पथ में किसी भी प्रकार की रूकावट पैदा होने से रोकने के लिए। 

5. अब endotracheal tube के अंदर stylet को डाले और ट्यूब पर लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करे। 
कारण: लुब्रीकेंट के इस्तेमाल से ट्यूब की बाहरी सतह चिकनी हो जाती है जिससे इसे श्वसन नली में डालने से किसी भी प्रकार की चोट से बचा जा सके। 

6. रोगी के crichothyroid cartilage को esophagus के विपरीत दिशा में अंगूठे से दबाये, या लैरिंगोस्कोप की सहायता ले। 
कारण: ट्यूब को इंसर्शन (insertion) के लिए ओरोफैरिंक्स (oropharynx) को स्पष्ट देखने के लिए। 

7. एंडोट्रेकियल ट्यूब को ट्रेकिआ (trachea) के अंदर धीरे-धीरे स्थानांतरित करे। लगभग 22 cm अंदर तक   incisor दांतो से।

8. Auscultation की मदद से ब्रीथिंग साउंड को सुनकर सुनिश्चित करे की ट्रेकिआ में एंडोट्रेकियल ट्यूब की स्थिति सही जगह पर हैं। 

9. अब इन्फ्लेटेड कफ (एंडोट्रेकियल ट्यूब के अगले हिस्से पर लगा एक छोटा सा गुब्बारा) को Ambubag की सहायता से फुलाये: लगभग 10 ml हवा प्रवाहित करके। 
कारण: एंडोट्रेकियल ट्यूब कफ का एक महत्वपूर्ण कार्य वायुमार्ग (airway) को सील करना है, इस प्रकार श्वासनली (trachea) में ग्रसनी सामग्री (pharyngeal material) के आने की आकांक्षा को रोकना।

10. एंडोट्रेकियल ट्यूब को एडहेसिव टैप की सहायता से मुँह के किनारे पर फिक्स करे। 
कारण: ट्यूब को अपनी जगह से हिलने से रोकने के लिये।

11. अब वेंटीलेटर को एंडोट्रेकियल ट्यूब से जोड़े।


 

Endotracheal Intubation के फायदे : Advantages

  • विषम परिस्थितियों में जब रोगी बेहोश हो और सांस लेने में असमर्थ हो। 
  • फेफड़ों में स्राव (रक्त, श्लेष्म, पेट / आंत्र सामग्री) की आकांक्षा को रोकता है।
  • इस प्रक्रिया से लम्बे समय तक रोगी को ऑक्सीजन प्रदान की जा सकती है। 
  • दवाओं को पारित (pass) करने के लिए उपयोग किया जा सकता है। 

Endotracheal Intubation से नुकसान : Disadvantages

  • इस प्रक्रिया को करने से पहले अच्छी तरह से प्रशिक्षण (advanced training) की आवश्यकता होती है।
  • अगर एंडोट्रेकियल ट्यूब को ट्रेकिआ में सही से स्थापित नहीं किया जाये तो श्वसन में बाधा उत्पन्न हो सकती है। 
  • स्टेराइल तकनीक (sterile technique) का सही से इस्तेमाल न करने से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 
  • एंडोट्रेकियल ट्यूब को ट्रेकिआ में स्थानांतरित करते समय ट्यूब को सही से लुब्रिकेट नहीं किया जाये तो इससे ट्रेकिआ में ब्लीडिंग होने का खतरा हो सकता है। 

Ads middle content1

Ads middle content2