Breast Self Examination in Hindi: कैसे करे

Breast Self Examination in Hindi

Breast Self Examination in Hindi (स्वयं स्तन परिक्षण) एक तरह की जांच प्रक्रिया है जिसे समय-समय पर स्तन में होने वाली गांठो की जांच के लिए की जाती है। इस प्रक्रिया को महिलाएं स्वयं पर अपना सकती है।

ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन क्या है? - Breast self examination in hindi


ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन से निम्न स्तन सम्बंधित समस्याओं की जांच की जा सकती है:

  • ट्यूमर (कैंसर)
  • अल्सर (फोड़ा)
  • स्तन सम्बंधित अन्य समस्याएं 
ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन प्रक्रिया को स्तन कैंसर के लिए सबसे अच्छी प्रक्रिया मानी जाती है। कई स्तन सम्बन्धित परिवर्तनों को इस प्रक्रिया से पता लगाया जा सकता है। हालाँकि अब, नियमित मैमोग्राम जैसी अन्य तकनीकों की तुलना में स्वयं स्तन परिक्षण (Breast Self Examination in Hindi) को कम प्रभावी माना जाता है।

लेकिन साथ ही Breast Self Examination तकनीक से बनावट, आकार का पता लगता है। यह प्रक्रिया महत्वपूर्ण है क्योंकि यह निर्धारित करने में आपकी सहायता कर सकती है कि आप जो महसूस कर रहे हैं वह सामान्य है या असामान्य।

ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन कब किया जा सकता है? - How to prepare for breast self examination in hindi


  • स्वयं स्तन परिक्षण करने का सबसे उत्तम समय मासिक धर्म (पीरियड) खत्म होने के कुछ दिन बाद होता है। क्योंकि पिरियड के दौरान हार्मोनल प्रभाव के कारण स्तनों का आकार प्रभावित हो सकता है। इसीलिए जब स्तन अपनी सामान्य स्तिथि तभी यह यह परिक्षण करना सही रहता है।
  • जिन महिलओं में मासिक धर्म आना समाप्त (मिनोपॉज) हो चुके है, उस स्तिथि में उन्हें यह जांच करने के लिए कोई भी एक निश्चित दिन चुनना चाहिए। जैसे महीने की एक तारीख से अगले महीने की एक तारीख।
इसी के साथ आपको अपने स्तन की जांच के आंकड़ो (डाटा) को नोट भी करते रहना चाहिए। इससे स्तनों में होने वाले किसी भी परिवर्तनों को ट्रैक और रिकॉर्ड करने में सहायता मिलती है।

ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन कैसे करे - How to perform breast self examination in hindi


सबसे पहले शीशे के सामने टॉपलेस (निवस्त्र) होकर खड़े हो जाये और अपने हाथों को साइड में रखे। 
फिर अपने स्तनों में निम्न बातों का निरिक्षण करे:

देखकर परिक्षण करना 
  • स्तन में किसी प्रकार की असामान्य सलवटे (puckering), गड्ढे, असमानता 
  • निप्पल का अंदर की ओर मुड़ना- Inverted nipples
  • अपने हाथों को अपने कूल्हों (hipps) पर रखकर दबाये और फिर अपने स्तनों का निरिक्षण करे 
  • अपनी बाहों को ऊपर उठाकर दोनों हाथों को सिर के पीछे की ओर ले जाये, अब अपने स्तनों का निरिक्षण करे 
छू कर परिक्षण करना 
अपनी एक बाह को ऊपर उठाये और हाथ को सिर के पीछे की तरफ ले जाये। फिर ये करे:
  • सर्कुलर पैटर्न में निप्पल से बाहर की तरफ मसाज करके परिक्षण करे 
  • किसी समतल सतह पर लेट जाये अपने बाये बाह को सिर के ऊपर की तरफ रखे और दाए हाथ की अंगुलियों (हाथ की तीन अंगुलिया) के पेड से स्तनों का परिक्षण करे 
हाथ द्वारा स्तन के परिक्षण के लिए तीन तरह का प्रेशर (दबाव) का प्रयोग किया जा सकता है:
  1. Light pressure: त्वचा के अत्यधिक पास वाले उत्तकों को महसूस करने के लिए 
  2. Medium pressure: to feel little dipper tissue
  3. Firm pressure: छाती और पसलियों के अधिक पास वाले उत्तकों को महसूस करने के लिए

ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन के जोखिम - Risk of breast self examination in hindi


  • स्वयं स्तन परिक्षण (Breast self examination in hindi) से किसी भी प्रकार का जोख़िम होने का खतरा नही है। लेकिन स्तन में गाँठ (lump) होना खतरे का संकेत हो सकता है। अधिकतर गांठे malignant होती है जो की कैंसर नही है लेकिन यदि गाँठ प्रकृति में Benign है तो यह कैंसर होती है जो की आगे अन्य अंगो तक भी फ़ैल सकता है।
  • यदि आपको स्तनों में किसी भी प्रकार की संदिग्ध गाँठ का पता चला है तो इसके लिए आप कुछ टेस्ट करवा सकते है जैसे: मैमोग्राम, ब्रैस्ट अल्ट्रासाउंड, बायोप्सी (गाँठ से कुछ ऊतक के टुकड़े को निकलना) यदि जांच से पता चले की गाँठ कैंसर वाली नही थी तो यह एक बेमतलब की इनवेसिव प्रक्रिया होती है।
  • यदि गाँठ कैंसर नही है तो उसके लिए सर्जरी करने से आपको ब्लड लोस और संक्रमण का जोखिम हो सकता है।

ब्रैस्ट सेल्फ एग्जामिनेशन के बाद - After breast self examination


स्वयं स्तन परीक्षण के दौरान आपको कोई गाँठ या असामान्यता दिखती है तो घबराये नही, क्योंकि अधिकांश स्तन की गांठे Benign/ बिना कैंसर वाली होती है।
आपको निम्न प्रकार की बिना कैंसर वाली गांठे हो सकती है:
  • Fibrocystic breast disease: इसमें हार्मोन के परिवर्तन के कारण ब्रैस्ट में दर्दयुक्त गाँठ हो सकती है।
  • Fibroadenoma: यह भी एक Benign प्रकृति की गाँठ होती है।
  • Intraductal papilloma: दुग्ध नालिकाओ (milk ducts) में होने वाला Benign प्रकृति की गाँठ।
Older Posts No results found
Newer Posts
Dev chaudhary
Dev chaudhary I'm Dev and I am 22 year old. I provide you amazing articles related to nursing and recreation. Medicaldudes.com

Post a Comment

Ads Single Post 4

Ad-Blocker Detected!

Sorry, we have detcected that you have activated Adblocker.

please consider supporting us by Turning off your adblock to be able to access this site.

Thank you !